Desi Chudai Kahani Padhe Online Free. Maa Ki Chudai, Bhabhi Ki Chudai, Teacher Ke Sath Sex, Bhabhi Ki Chut, Lund, Pyasi Bhabhi Ki Chut, Chudai,

पप्पू द्वारा उसकी माँ के बारे में बताई बात सुन कर नीता जल्दी से वो फटी बनियान अपने जिस्म पे ओढ़ कर फटी आँखों से पप्पू को देखने लगी. उसक...

जवान लड़की की गर्म चूत: जयपुर की रूपा की अन्तर्वासना-7


पप्पू द्वारा उसकी माँ के बारे में बताई बात सुन कर नीता जल्दी से वो फटी बनियान अपने जिस्म पे ओढ़ कर फटी आँखों से पप्पू को देखने लगी. उसकी माँ को जिस हिसाब से पप्पू अंकल और उनके दोस्त ने मसला था.

वो सुन कर उसकी चूत और गीली हो गई. बनियान को अपने सीने पर लपेटते हुए वो बोली- क्या बात करते हो? मम्मी तो आपको कितनी इज़्ज़त देती है और उनके साथ आपने ऐसा किया था? उन्होंने आपको सहन भी किया? अंकल आपने बहुत ज्यादती की है मेरी मम्मी के साथ, शी… कितने गंदे काम करवाये, कितना ज़लील किया उन्हें और कितना दर्द दिया बेचारी को.

नीता के हाथ से फटी बनियान खींच कर उसे दूर फेंक कर अब नीता के नंगे मम्मे मसलते हुए पप्पू बोला- इसमें कैसी ज्यादती नीता? तेरी माँ मस्त आईटम थी तब भी और अब भी है, साली अब भी देख उसने अपना जिस्म कैसे मेंटेंड रखा है. एक बात है नीता तेरी माँ जैसे लंड आज तक किसी ने नहीं चूसा, क्या मस्ती और लगन से चूसती है रूपा. अरे उसकी शादी नहीं हुई होती तो मैं भगा कर ले जाता उसे और उस माल को तेरे बाप से भी ज्यादा चोदता रहता.

पप्पू अब नीता को खींच कर अपनी गोद में बिठा कर उसके मम्मे मसलने लगा. नीता भी गर्म हो कर अपनी गांड उसके लंड पे दबाने लगी. अपनी माँ की बात सुन कर उसे बड़ा अच्छा लग रहा था. इसका मतलब था कि उसकी माँ जिसे वो एक अच्छी औरत मानती थी वो तो कई मर्दों से अपना जिस्म मसलवा चुकी थी और उसने कितने ही लंड भी चूसे थे.

अब आगे:

ऐसा लगता था कि नीता को ज़रा भी शक नहीं हुआ कि पप्पू झूठ बोल रहा था. अपनी माँ की रंगीन करतूत सुन कर नीता और गर्म हुई और वो पप्पू के गले में हाथ डाल कर पप्पू का चेहरा किस करती हुई बोली- ज्यादती तो है ही ना? आपने उन्हें डरा धमका कर सब कुछ करवाया और कोई लड़की मस्त लगे तो उसका मतलब यह थोड़े ही है कि उसको डरा धमका कर उससे वो काम करवाओ जो वो चाहती ना हो. अब आप ही देखो ना, आपने कितनी बार मेरी बनियान उतार दी, पर अभी तक मुझे यह नहीं बताया कि आपकी निक्कर पर यह सब दाग कैसे हैं. वैसे अंकल, क्या माँ का फ़िगर शादी से पहले भी ऐसा ही था जैसा आज है?

एक हाथ से नीता के मम्मे मसलते हुए और दूसरे हाथ से पहले उसे कस कर अपने लंड पे दबाते हुए पप्पू अब नीता की गोरी जाँघें सहलाता हुआ बोला- नीता, जब तेरी माँ जैसी गर्म लड़की हमारे सामने रानी बन कर चलेगी तो हम उसके साथ ऐसे ही ज्यादती करते हैं… हमें हमेशा तेरी माँ जैसे लड़की हमारे नीचे चाहिये होती है. देख रानी अपनी सब बात होने के बाद तुझे बताऊँगा कि दाग कैसे लगे. तेरी माँ की फ़िगर शादी के बाद और अच्छी हुई है, साली के मम्मे और पिछवाड़ा एकदम उभर आया है. वैसे नीता तूने भी अभी तक मुझे खुल कर बताया नहीं कि वो लड़के क्या छेड़ते हैं और तेरा यह जिस्म कहाँ टच करते हैं?



नीता भी अब गर्म हो गई थी और उसने पप्पू की टी-शर्ट को उतार दिया. वो पप्पू की तरफ़ घूम कर उसकी गोद में बैठ गई. अब वो दोनों सिर्फ़ शॉर्ट्स में थे. उस बड़ी उम्र के मर्द की बांहों में नीता बेशर्म हो कर बैठी थी.

पप्पू का पूरा चेहरा किस करते हुए नीता बोली- रानी बन कर चले मतलब कैसे चले? मैं कुछ समझी नहीं. शादी के बाद अच्छी हुई मतलब क्या शादी से पहले मम्मी का सीना कैरम जैसा था? खुल कर बताओ ना अंकल. अंकल देखो मैंने आपको बताया कि वो लोग क्या बोल कर छेड़ते हैं, रही बात कहाँ टच करते हैं… वो तो मैं उनको करने नहीं देती. हाँ कालेज से छूटते वक्त वो लोग भीड़ का बहुत फायदा उठाते हैं… आगे पीछे मुझे कवर करके मेरी छाती और मेरी जाँघों को सहलाया करते हैं.

पप्पू अब नीता की चूत पे अपना लंड रगड़ने लगा. उसे लगा नहीं था कि यह कमसिन लड़की इतनी गर्म माल होगी. यह तो साली अपनी माँ से भी गर्म थी. आखिर एक गर्म औरत की बेटी भी उसके जैसी गर्म ही होगी.

यह सोच कर पप्पू नीता के कड़क मम्मे ज़रा मस्ती से मसलते हुए बोला- रानी बन कर मतलब… ऊंची ऐड़ी की सैंडल पहन कर गांड ठुमकाते हुए, नाक चढ़ा कर, हम लोगों को चूतिया समझ कर चलती थी… इसलिए उसको सज़ा दी. कैरम बोर्ड नहीं… तेरी माँ शादी के पहले मस्त माल थी, सीना तेरे जितना उभरा था… आज सीना ज्यादा बड़ा हुआ है पर उसके मम्मों में ज़रा भी झुकाव नहीं है. एकदम टाइट मम्मे हैं साली के.. और गांड भर गई है, लगता है तेरा बाप रूपा की गांड में पेलता होगा ज्यादा. वैसे भी शादी के पहले हम दोस्तों ने तेरी माँ के मम्मे खूब मसले थे, जिससे शादी के वक्त तक तेरी माँ का सीना काफी उभर आया था. जब तेरी जाँघ और छाती मसलते है वो लड़के तो तुझे कैसा लगता है नीता?

नीता अब खुद पप्पू के लंड पे अपनी चूत रगड़ते हुए बोली- हाँ अंकल, आप सच बोलते हो क्योंकि कुछ दिन पहले जब मैंने माँ की शादी की फोटो देखी थीं, तो मुझे ऐसा लगा था कि दरसल वो मेरी ही तस्वीरें हैं. उस वक्त का माँ का बदन वैसा ही दिख रहा था जैसे आज मेरा है. आपको मेरी माँ को मसलने और उनसे मस्ती करने में बहुत मज़ा आता होगा? अंकल लड़कों के सहलाने से तो मुझे अच्छा लगा पर उनका बोलने का ढंग जरा भी नहीं, एकदम जंगली हैं वो लड़के, लड़की को बस हवस की नज़र से देखते हैं. रही बात कि मम्मी और डैड क्या करते होंगे… यह पता नहीं… पर मैंने कहीं पढ़ा है कि प्रेगनेंसी के बाद लेडीज़ की बैक साईड फ़ूल जाती है और मम्मी को तो टिवन्स हुई थीं… इसलिए उनका पिछवाड़ा इतना बड़ा हुआ होगा.

नीता की कमर में हाथ डाल कर उसे अपने लंड पे दबाते हुए पप्पू अब नीता के मम्मों को मसलते और निप्पलों से खेलते हुए बोला- अरे नीता, तेरी माँ का सीना 14 साल में ही उभर गया और शादी के छः महीने पहले से हमने खूब मसला था उसे, कई बार तो तेरी माँ को हम एक साथ दो-तीन लड़के दो-दो घंटे तक मसलते थे.. और वो हमारे लंड चूसती थी. मसलने से उसका सीना एकदम लाल हो जाता और निप्पल दर्द करते. तेरी माँ हमसे और ना मसलने की भीख माँगने लगती थी पर हम उसकी कोई बात नहीं मानते थे बल्कि और ही मसलते थे. बेटी मुझे पता है कि प्रेगनेंसी के बाद औरत की गांड फूलती है लेकिन गांड को बार-बार लंड से चोदने से भी गांड फूलती है, जैसे तेरी माँ की फूली है. अगर तेरा बाप नहीं तो कोई और तेरी मस्त माल मां की गांड में लंड पेलता होगा, तेरी माँ को कुतिया बना कर चोदता होगा. अब बेटी वो लड़के क्या बोलते हैं, वो तूने बताया लेकिन इससे क्या ज्यादा गंदा बोलते हैं जिससे तू उनको जंगली कहती है… यह नहीं बताया, कुछ भी बोलते होंगे, मुझे खुल कर बता न सब?

नीता अब पप्पू को ज़रा भी रोक नहीं रही थी. वो चाहती थी कि पप्पू अंकल आज उसे चोद डालें. वो अपनी माँ के बारे में इतना गंदा सुनने के बाद और गर्म हो गई थी.

अब अंकल से पूरी बात बताने का निश्चय करते हुए वो पप्पू का मुँह अपने निप्पल पे दबाती हुई बोली- वेल अंकल… मुझे शरम आती है बोलने में पर फिर भी बताती हूँ. वो लड़के जो बोलते हैं ना वो बहुत गंदा है अंकल. मेरे जिस्म के बारे में कहते हैं कि कितनी गोरी और मक्खन जैसी टाँगें हैं, टाँगें ऐसी हैं तो जाँघें कैसी होंगी और अगर जाँघों का यह हाल है तो अन्दर की जन्नत तो कैसी होगी? वो यह भी बोलते हैं कि नीता की बहन और माँ भी एकदम मस्त हैं, इन तीनों को एक साथ नंगी करके मस्ती करनी चाहिये. वो और बोलते हैं कि नीता की माँ सबसे मस्त है, एक साथ उस चुदक्कड़ रांड को चोदना चाहिये, एक आगे से, एक पीछे से और तीसरा उसके मुँह में देना चाहिये. श्वेता को भी ऐसे ही छेड़ते थे वो और अब वो हॉस्टल गई तो मुझे अकेली को छेड़ते हैं. वो लड़के लोग तो यह भी कहते हैं कि इस नवरात्रि में हम माँ-बेटी उनके मोहल्ले में जा कर उनके डाँडिया लेकर डाँडिया खेलें. यह सब सुन कर मुझे बहुत शरम आती है अंकल… पर यह सब सुन कर मैं गर्म भी हो जाती हूँ. कई बार उन्होंने भीड़ में मेरा पूरा जिस्म मसला है, वो चारों एक साथ आगे पीछे और साईड में आते हैं और मेरे जिस्म का जो हिस्स जिसे मिले, वो मसलने लगते हैं. मुझे अच्छा लगता है उनसे मसलवाना इसलिए मैं भी उनको रेज़िस्ट नहीं करती.

नीता के जवाब से पप्पू का लंड और कड़क हो गया तो वो नीता की एक चूची चूसने और दूसरी को मस्ती से मसलने लगा.

नीता का नंगा जिस्म सहलाते हुए वो बोला- अरे नीता बेटी, वो लड़के सच ही तो बोल रहे हैं. तुम तीनों माँ-बेटी हो ही इतनी मस्त कि हम मर्दों का लंड तुम्हें देखते ही खड़ा हो जाये. कसम से मेरी भी अब तमन्ना है कि रूपा, तुझे और श्वेता को एक साथ नंगी देखूँ. उफ्फ्फ़ बहनचोद साली देख तेरी यह जवानी देख कर मेरा लंड कैसे खड़ा है. यह अच्छी बात है कि चार-चार लड़के एक साथ तुझे मसलते हैं नीता… इससे तू ज्यादा से ज्यादा मर्दों के साथ चुदाई कर सकेगी.

फिर नीता का हाथ अपने लंड पे दबाते हुए पप्पू आगे बोला- ले बेटी, तू भी अपनी माँ जैसे मेरा लौड़ा सहला. मेरा लंड सहला कर बता कि मेरा डाँडिया कैसा है रानी? खेलेगी इसके साथ? श्वेता को भी खूब मसलते होंगे ना लड़के? कभी किसी लड़के का डाँडिया छुआ था तूने जान?

पप्पू का गर्म लौड़ा सहलाना नीता को बड़ा अच्छा लगा. वो शॉर्ट्स के ऊपर से लंड को खूब ज़ोरों से मसलते हुए सिसकरियाँ भरने लगी.
पप्पू के मुँह में अपनी चूची और दबाते हुए वो बोली- उफ्फ्फ्फ्फ़ अंकल… कितना अच्छा लग रहा है आपका डाँडिया मसलने में. सच बोलो अंकल, मेरे और मम्मी के जिस्म में सबसे अच्छा किसका जिस्म है? वेल… मम्मी का किसी के साथ पोस्ट मैरिटल लफ़ड़ा है… यह तो मैं मान नहीं सकती. अंकल सच बोलूँ तो आपका यह डाँडिया देख कर मुझे मेरी कालेज याद आ गई. जब हम कालेज से छूटते थे तब बहुत भीड़ होती थी और यह मुस्टंडे मेरे आगे पीछे होते थे. जो पीछे वाला लड़का होता वो अपना लंड मुझसे सटा के रख कर पूछता था कि कैसा है मेरा लंड नीता? तो मैं भी जवाब देती थी कि बाहर निकाल कर दिखा तो सही… काला है कि गोरा. ऐसे एक बार उन लड़कों ने मुझे और श्वेता को भीड़ में पकड़ कर वही सवाल किया तो मैंने भी वही जवाब दिया. मेरा जवाब सुन कर शाम को नुक्कड़ के एक कार्नर में ले कर उन तीनों ने अपने लौड़े बाहर निकाले. ओह माँ, कितने काले और लंबे थे… उनके लंड मुँह पे गीले भी थे. उन्होंने हमे उनके लंड सहलाने को दिये और उस दिन हमें खूब मसला. मुझे तो बहुत मज़ा आया पर श्वेता डर गई थी. अब भी यह लड़के मुझे देखते हैं और बुलाते हैं पर मैं कभी-कभी ही जाती हूँ और उनसे अपना जिस्म मसलवाती हूँ. अंकल उन लड़कों के लंड से आपका लंड बड़ा है और गर्म भी ज्यादा है.

नीता की कहानी सुन कर पप्पू खुश हुआ. नीता को गोद में उठा कर वो खड़ा हुआ और अपनी शॉर्ट्स निकाल दी. अब पप्पू मादरजात नंगा था. नीता उसका लौड़ा देखती रही. इतना लंबा, मोटा और टाइट लंड वो पहली बार देख रही थी. पप्पू शॉर्ट्स के ऊपर से नीता की कमसिन चूत मसलते हुए उसका हाथ अपने लंड पर रख कर बोला- बहनचोद तू बड़ी मस्त लड़की है, इतना मसलवाया अपना जिस्म उन लड़कों से और अब बता रही है. तेरी माँ हम दो दोस्तों के साथ मस्ती करती थी और तू 3 लड़कों के साथ करती है. मज़ा तो खूब मिलता होगा ना तुझे रानी? श्वेता इतनी से बात से डर गई? ज्यादा से ज्यादा क्या होता? वो लड़के लोग उसे चोदते ही ना और क्या करते? वैसे भी तू और तेरी बहन जैसी गर्म लड़कियाँ हमारी रंडी बनने के लिए पैदा होती हैं, कुछ जल्दी बनती हैं जैसे तेरी माँ… कुछ लेट जैसे श्वेता बनेगी. नीता, सच बोलूँ… जान तो तेरी माँ से अच्छी तू है क्योंकि तू कमसिन चूत है, तेरी माँ ने ना जाने कितने लंड लिए होंगे पर तू पहला लंड लेने वाली है… वो भी मेरा लंड. उन लड़कों को तूने अच्छा जवाब दिया रानी और यह भी अच्छा हुआ कि उन लड़कों ने तुम बहनों को अपने लौड़े दिखाये. नीता जब वो तेरी गांड पे लंड रगड़ते या तू हाथ से उनके लंड मसलती तो तुझे लंड चूत में लेने की इच्छा नहीं होती? अपनी जवानी उनके हवाले क्यों नहीं की? अरे बेटी तेरी माँ का शादी के बाद भी बाहर लफ़ड़ा चलता है. कई बार मैंने तेरी माँ को तुम्हारे नौकर के साथ बेडरूम में चूत चुदाई की रंगरेलियाँ मनाते देखा है. तेरी माँ बड़ी चुदक्कड़ है समझी? आजकल तो दारू पी कर मस्त हो कर चुदवाती है. साली नीता तू मेरी जान है, अब देख मैं नंगा हुआ हूँ… क्या तू अपना यह सैक्सी जिस्म नंगा करके नहीं दिखायेगी मुझे जान?

नीता पप्पू का लंड दोनों हाथों से मसलने लगी. अंकल ने उसे मस्त गर्म किया था. वैसे भी वो किसी लड़के से चुदवा लेती लेकिन पप्पू का लंड देख कर उसे यकीन हुआ कि उन लड़कों में किसी का भी लंड पप्पू अंकल जितना नहीं था.
पप्पू का लंड मस्ती से मसलते हुए नीता बोली- अंकल, आपने इतनी औरतों को चोदा है तो आप जानते ही हैं कि हर जवान लड़की को अपना जिस्म मसलवाने का दिल करता है, सब चाहती हैं कि कोई उनकी जवानी की प्रशंसा करते हुए उसके साथ कोई मर्द खेले. आखिर यह जवानी सिर्फ आईने में देखने ले लिए तो है नहीं. अंकल मैं लंड तो लूँगी आपका लेकिन अभी थोड़ा रुको. मैं चाहती हूँ कि मेरी पहली चुदाई बड़े आराम से हो, आप मुझे और मैं आपको पूरा गर्म करेंगे और बाद में आप मुझे चोदो. अंकल, मैंने कई बार चाहा कि उन लड़कों में किसी से चुदवा लूँ पर फिर हम माँ-बेटियों के बारे में वो इतनी गंदी बात करते थे कि मूड ऑफ हो जाता और मैं इरादा बदल देती. उसके बाद मैं कई दिन उनसे नहीं मिलती पर जब जिस्म नहीं मानता तो जा कर उनसे फिर मसलवा लेती हूँ.. और वो जो नौकर की बात आप करते हैं अंकल… तो वो बड़ा हरामी है. मैं जानती हूँ कि मम्मी उससे चुदवाती है. मैंने भी कई बार उनको चुदाई करते देखा है. एक बार जब पापा ने उनको रंगे हाथ पकड़ा तो मम्मी ने पापा को बताया कि नौकर का दिमाग फिरा है और वो ज़रा पागल है. बेचारे पापा, मम्मी की बात सच समझ बैठे और इज़्ज़त की वजह से बात दबा दी. इससे अब मम्मी को पूरी आज़ादी मिल गई और वो अब भी उस नौकर से चुदवाती है.

नीता से लंड सहलवाते हुए पप्पू अब नीता की शॉर्ट्स में हाथ डाल कर उस जवान लड़की की नंगी गांड मसलने लगा. नीता के मुँह से उसकी माँ की सच्चाई जान कर पप्पू को अच्छा लगा.
अब एक हाथ नीता की गांड पे और दूसरा उसकी नंगी चूत पे रख कर पप्पू बोला- हाँ बेटी, मैं जानता हूँ कि औरत कितनी भी पतिव्रता हो पर किसी मर्द के मसलने से गर्म हो कर अपनी टाँगें उसके सामने फ़ैला देती है जैसे तेरी माँ और अब तू गर्म हो गई है. मुझे तेरी चुत चोदने में बड़ा मजा आएगा. खूब गर्म करके मस्ती से चोदूँगा तुझे बेटी. तेरी माँ अब इतनी रंडी बनने वाली थी… यह अगर तब पता होता तो मैं साली को शादी के पहले ही चोद डालता. नीता तेरी माँ को एक-दो बार मैंने उस नौकर से चुदवाते देखा है. साली क्या मस्ती से लेती है, उसको अपने ऊपर और दारू के नशे में तेरी रंडी माँ उससे कितनी मस्ती से चुदवाती है. कसम से नीता आज तुझे चोद कर बाद में श्वेता को भी चोदूँगा. तुम बहनों को बड़ी बेरहमी से एक साथ चोदना चाहिये.

अपनी नंगी चूत पे पप्पू का हाथ नीता को बड़ा अच्छा लगा. अब सिर्फ़ नाम के लिए उसके जिस्म पे शॉर्ट्स थी. पप्पू शॉर्ट्स में हाथ डाल कर उसकी चूत और गांड सहला रहा था. वो भी जोश में आकर पप्पू का लंड और गोटियाँ मसलते हुए बोली- हाँ अंकल, मम्मी तो बड़ी चुदक्कड़ हैं. जब पापा कभी काम से टूर पे जाते हैं तो मम्मी उस नौकर के साथ अपने बेडरूम में रात भर रहती हैं. अंकल आप आज मुझे और जब मौका मिले तो श्वेता को भी ज़रूर चोदना. वो उन मवालियों से डरती है पर आप जैसे मर्द से नहीं डरेगी… वैसे भी हॉस्टल में पता नहीं क्या गुल खिलाती होगी.

पप्पू ने अब जोश में आकर नीता की शॉर्ट्स उतार दी. दोनों अब बिल्कुल नंगे थे. पप्पू का लंड प्री-कम से गीला था और नीता की चूत भी गीली थी. पप्पू नीता की गीली चूत को हाथ से मसलते हुए बोला- हाँ साली नीता, मुझे तू, श्वेता और रूपा, तीनों पसंद हो. तेरी माँ को तो खूब चोदा…. मतलब मसला, तुझे आज मसल के चोदूँगा… अब रही सिर्फ़ श्वेता जब छुट्टियों में हॉस्टल से आएगी तो उसे भी चोदूँगा.

जोश में पप्पू बोल गया कि उसने रूपा को चोदा है और यह बात नीता ने भी अच्छे से सुन ली. पप्पू का चेहरा थोड़ा टेंस हो गया और नीता के चेहरे पर खुशी छा गई. उसे जो इतने दिन से बात पता थी, उस बात को पप्पू ने मान लिया था. पप्पू के मुँह से सब बात सुनने के बाद नीता बड़ी बेताब हो गई. वो खुद पप्पू के बिना बोले नीचे बैठ कर एक बार उसका का लंड पूरा मुँह में ले कर चूसने लगी.

इसके बाद नशीली आँखों से पप्पू को देखते हुए बोली- क्या बोले आप अंकल? आपने मेरी मम्मी को चोदा है? कब चोदा है बताओ? नवरात्रि में, होली में या कभी और? कब चोदा है मम्मी को… बोलो अंकल? अब छुपाने से कोई फायदा नहीं… देखो अब आपकी चोरी पकड़ी गई है. अंकल मैंने आपको सब बताया और अब आपसे चुदवाने वाली भी हूँ तो आप भी बताओ कि माँ को कब चोदा आपने? अंकल आपका लंड तो बहुत तन गया है, मेरी चूत भी गर्म है, आप मम्मी की बात बताओ और फिर मेरी चूत चोदो.

पप्पू समझ गया कि अब उसे पूरी बात बतानी होगी. वो नीता को बेड पर बिठा कर अपना लंड उसके होंठों पे रख कर बोला- ठीक है बेटी… मैं तुझे पूरी बात बताता हूँ पर तब तक तू मेरा लंड चूसती रह!

0 comments: